Home जीवन परिचय

जनरल बिपिन रावत का जीवन परिचय और कुछ अनसुनी कहानी

नमस्कार दोस्तों आज हम भारत देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) स्वर्गीय श्री विपिन रावत जी के जीवन परिचय जानेंगे I

जनरल बिपिन रावत चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ कमेटी के 57 और अंतिम अध्यक्ष के साथ साथ वह 26वे सेना अध्यक्ष के रूप में उन्होंने भारतीय आर्मी में में अपनी सेवा प्रदान की ।

अभी हाल ही में उनका निधन हेलीकॉप्टर दुर्घटना के कारण हुआ है, आज हम भारत के प्रथम सीडीएस जनरल बिपिन रावत जी का जीवन परिचय से संबंधित समस्त जानकारी इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे I कृपया इस पोस्ट को पूरा पढ़ें जिससे कि आप जनरल बिपिन रावत जी से जुडी संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंच पाए।

जनरल बिपिन रावत का जीवन परिचय

स्वर्गीय पूर्व जनरल बिपिन रावत जी भारतीय सेना के प्रथम चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के अध्यक्ष थे I वह भारतीय सेना के उच्च एवं विशिष्ट पद पर आसीन थे I और उन्होंने अपने सेवा में कई उच्च और विशिष्ट सेवा मेडल प्राप्त किए।

स्व विपिन रावत जी का पूरा नाम विपिन लक्ष्मण सिंह रावत है, जिनका जन्म 16 मार्च 1958 को उत्तराखंड के पौड़ी पूरी नामक स्थान पर हुआ था I

जनरल बिपिन रावत का जीवन परिचय

उनके पिता लेफ्टिनेंट जनरल लक्ष्मण सिंह रावत थे जोकी वह भी आर्मी में लेफ्टिनेंट जनरल की पोस्ट पर रिटायर हुए थे I उनकी पत्नी स्वर्गीय मधुलिका रावत और दो बेटियां कृतिका और तारिणी है I उनकी शिक्षा कैंब्रियन हॉल स्कूल, देहरादून & सेंट एडवर्ड स्कूल, शिमला में उनकी शुरुआती शिक्षा पूर्ण हुई।

जनरल बिपिन रावत का जीवन से जुडी जानकारी

पूरा नाम विपिन लक्ष्मण सिंह रावत
जन्म 16 मार्च 1958
स्थानउत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में
आयु63 वर्ष
पितालेफ्टिनेंट जनरल लक्ष्मण सिंह रावत
पत्नी स्वर्गीय मधुलिका रावत
संतानकृतिका और तारिणी
मृत्यु 8 दिसम्बर 2021 (कुन्नुर तमिलनाडु)
मृत्यु का कारणहेलीकाप्टर दुर्घटना
सेना में पदCDS ( चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ )
सम्मानपरम विशिष्ट सेवा मेडल, उत्तम युद्ध सेवा मेडल, अति विशिष्ट सेवा मेडल, युद्ध सेवा मेडल सेना मेडल I

जनरल बिपिन रावत कौन है?

स्वर्गीय विपिन लक्ष्मण सिंह रावत जिन्हें हम जनरल बिपिन रावत के नाम से भी जानते हैं, जो पहले भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ थे I उनका जन्म उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में चौहान राजपूत परिवार में हुआ था I

वह एक डायनेमिक अफसर थे जिन्होंने देश के अलग-अलग हिस्सों में काम किया खतरे वाले एरिया में उन्होंने बहुत ज्यादा काम किया था I

जम्मू कश्मीर से लेकर नॉर्थ-ईस्ट के राज्यों तक में हो रहे एलएसी, एलओसी पर भी उन्होंने अपनी सेवा दी I इसलिए उन्हें बहुत लंबा ऑपरेशनल एक्सपीरियंस के चलते उन्हें आर्मी चीफ बनाया गया I

इनके पिता लेफ्टिनेंट जनरल पद से रिटायर एक आर्मी ऑफिसर थे I स्वर्गीय रावत ने 11वीं गोरखा राइफल की पांचवी बटालियन से 1978 में अपने आर्मी कैरियर की शुरुआत की थी ।

बिपिन रावत का जन्म कब हुआ?

जनरल बिपिन रावत जी का जन्म 16 मार्च सन 1958 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में चौहान राजपूत परिवार में हुआ था इनकी माता परमार वंश से थी I

बिपिन रावत की शिक्षा और करियर

  • जनरल विपिन रावत ने देहरादून में कैंबरीन हॉल स्कूल, शिमला में सेंट एडवर्ड स्कूल और भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून से शिक्षा प्राप्त की I
  • जहाँ उन्हें सोर्ड ऑफ ऑनर दिया गया I
  • इसके बाद वो फोर्ट लीवनवर्थ, अमेरिका में डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन और हायर कमांड कोर्स के ग्रेजुएट पूरा किया I
  • इसके बाद मद्रास यूनिवर्सिटी से डिफेंस स्टडीज में एमफिल, मैनेजमेंट में डिप्लोमा और कम्प्यूटर स्टडीज में भी डिप्लोमा किया।
  • वर्ष 2011 में सैन्य-मीडिया सामरिक अध्ययनों पर अनुसंधान के लिए चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी मेरठ की ओर से डॉक्टरेट ऑफ फिलॉसफी (Phd) से सम्मानित किया गया।

बिपिन रावत की फॅमिली में कौन-कौन है ?

जनरल बिपिन रावत की फैमिली में कुल 4 सदस्य हैं जिसमें उनके अलावा उनकी पत्नी श्रीमती मधुलिका रावत और दो बेटियां कृतिका हो तारिणी है जिसमें से उनकी बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है ।

जनरल बिपिन रावत की सैन्य सेवाये और उनका कार्यकाल

जनरल बिपिन रावत को वर्ष 2019 में देश का पहला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बनाया गया था I वह 65 साल की उम्र तक इस पद पर नियुक्त रहने वाले थे I इस पद को बनाने का उद्देश्य सिर्फ यही था कि तीनों सेनाये आर्मी, नेवी और एयरफोर्स को सही तरीके से इफेक्टिव कोऑर्डिनेशन किया जा सकेI

जनरल बिपिन रावत दिसंबर 1978 में कमीशन ऑफिसर 11वीं गोरखा राइफल बने थे और 31 दिसंबर 2016 को थल सेना प्रमुख बने थे उन्हें पूर्वी सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा कश्मीर घाटी और पूर्वोत्तर में कामकाज का अनुभव अच्छा खासा रहा है I

भारत के प्रथम सीडीएस इन पदों पर रह चुके हैं ।

पदउसका समय
सेकंड लेफ्टिनेंट16 दिसंबर 1978
लेफ्टिनेंट16 दिसंबर 1980
कैप्‍टन31 जुलाई 1984
मेजर16 दिसंबर 1989
लेफ्टिनेंट कर्नल01 जून 1998
कर्नल01 अगस्त 2003
ब्रिगेडियर01 अक्टूबर 2007
मेजर जनरल20 अक्टूबर 2011
लेफ्टिनेंट जनरल01 जून 2014
जनरल (सीओएएस)01 जनवरी 2017
सीडीएस 30 दिसंबर 2019

जनरल बिपिन रावत को मिले पुरस्कार एवं सम्मान

स्वर्गीय श्री जनरल बिपिन रावत जी को भारतीय सेना के लगभग सभी उचित सम्मान प्राप्त हो चुके हैं जिसकी जानकारी नीचे पान के माध्यम से आपको विस्तार पूर्वक बताई गई है जो कि इस प्रकार से है ।

  1. सेना मेडल
  2. युद्ध सेवा मेडल
  3. विशिष्ट सेवा पदक
  4. उत्तम युद्ध सेवा मेडल
  5. अति विशिष्ट सेवा मेडल
  6. परम विशिष्ट सेवा मेडल

जनरल बिपिन रावत की सैलरी कितनी है?

जनरल बिपिन रावत भारतीय सेना के अति उच्च पद पर आसीन थे, जिनके सैलरी तीनों सेना के प्रमुख के बराबर होती है लेकिन सुविधाएं अलग-अलग होती है I

जनरल विपिन रावत अपने सैलरी का 20 फ़ीसदी यानी ₹50000 प्रतिमाह दान करते हैं, भारत के उच्च पद पर बैठे डिफेंस ऑफ चीफ स्टाफ की सैलरी 2.5 लाख प्रति माह के करीब होती है, और इन्हें रहने से लेकर समस्त सुविधाएं केंद्र सरकार के तरफ से दी जाती है ।

जनरल बिपिन रावत की 1979 में पहली पोस्टिंग कहां हुई थी?

सन 1979 को भारत के प्रथम सीडीएस जनरल बिपिन रावत के लिए मुख्य वर्ष था I इसी समय उनकी पहली बार पोस्टिंग हुई थी I विपिन रावत ने जनवरी 1979 में सेना में मिजोरम में प्रथम नियुक्ति पाई।

जनरल बिपिन रावत का निधन

जनरल बिपिन रावत का निधन 8 दिसंबर 2021 को तमिलनाडु के कुन्नूर इलाके में उनका वायु सेना का हेलीकॉप्टर mi-17 घने जंगलों में दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी के अलावा समस्त सदस्यों का इस दर्दनाक हादसे में निधन हो गया ।

जहाँ निधन हुआ था वह नीलगिरी जिले के कुन्नूर तालुके के बांदीशोला ग्राम पंचायत में स्थित एक निजी चाय बागान की आवासीय कॉलोनी के समीप हादसा हुआ । जब जनरल बिपिन रावत का निधन हुआ उस वक्त इनकी आयु 63 वर्ष की थी ।

Video Source- YouTube By GN Biography

बिपिन रावत से जुड़े कुछ सवाल (FaQ)

Q.1 जनरल बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?

Ans. यह घटना एक सामान्य घटना है, लेकिन इस घटना से हमारे देश के आर्मी ऑफिसर की जो क्षति हुई है, वह काफी ज्यादा दुख का विषय है ।

Q.2 क्या जनरल बिपिन रावत की मौत का कारण बने हेलिकॉप्टर हादसे के पीछे चीन का हाथ है?

Ans. इसके बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता जब तक जांच रिपोर्ट को सही से नहीं आ जाती जब तक किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचना उचित नहीं है I

Q.3 जनरल बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर क्रैश कैसे हुआ था?

Ans. जब जनरल बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर नीलगिरी जिले के कुन्नूर तालुका के ऊपर से गुजर रहा था तो घनी धुंध और खराब मोसम होने के कारण उनका हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया I

Q.4 चीफ ऑफ डिफेंस जनरल बिपिन रावत का निधन कैसे हुआ?

Ans. इनका निधन निधन हॉलिकॉप्टर दुर्घटना के कारण हुआ ।

Q.5 स्वर्गीय जनरल बिपिन रावत को 21 की जगह 17 तोपों की सलामी क्यों दी गयी?

Ans. देश के किसी भी उच्च पद पर आसीन सेना ऑफिसर को 17 तोपों की सलामी दी जाती है, इसमें इक्कीस तोपों की सलामी इसलिए नहीं दी गई क्योंकि आर्मी की rule book में इसका जिक्र नहीं है I

Q.6 भारत के प्रथम सीडीएस के रूप में जनरल बिपिन रावत के क्या अधिकार एवं क्या ज़िम्मेदारियाँ होंगीं?

Ans. भारत के प्रथम सीडीएस के रूप में जनरल बिपिन रावत के पास तीनों सेनाओं के प्रमुख से ज्यादा अधिकार प्राप्त था, उनके पास जिम्मेदारी थी कि वह तीनों सेना को एक साथ कार्य करने में सक्षम बनाना उनके मुख्य जिम्मेदारी थी ।

Q.7 जनरल बिपिन रावत की मृत्यु होने से अब सीडीएस कौन बनेंगे?

Ans. जनरल बिपिन रावत की मृत्यु होने के बाद अब सेना प्रमुख नरवणे को देश का दूसरा सीडीएस नियुक्त इया गया है I

आशा है कि अब आप इस आर्टिकल के माध्यम से देश के प्रथम चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ स्वर्गीय जनरल बिपिन रावत के जीवन परिचय और उनकी तमाम उपलब्धियां और उनके आर्मी के कार्यकाल से जुड़ी सभी जरूरी जानकारी आप तक पहुंच गई होगी I अगर आप ऐसे ही और भी अन्य महान हस्तियों के बारे में उनका जीवन परिचय जानना चाहते हो तो आप हमारी वेबसाइट हिंदीनियर Hindineer.com को फॉलो करें।

धन्यवाद! जय हिन्द

Rate this post

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version