सरोगेसी तकनीक क्या है? | Surrogacy Kya Hota Hai?

सरोगेसी तकनीक क्या है: नमस्कार मित्रों आज के समय में अक्सर आपने यह शब्द को न्यूज़पेपर या न्यूज़ चैनलों में अधिक से अधिक बार सुना होगा जिसका इस्तेमाल आज के समय में बड़े-बड़े फिल्मी नामचीन लोगो के साथ कई लोग इसकी सहायता से माता-पिता बन रहे है I

अगर आप नहीं जानती हो कि सरोगेसी क्या होती है और यह किस तरीके से काम करती है तो आज के लेख में हम आपको Surrogacy तकनीक से संबंधित सभी जानकारी आपको उपलब्ध करवाएंगे I

जिसे जानकर आप Surrogacy से संबंधित संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंच पाएगी तो कृपया इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें जिससे कि आप भी सरोगेसी तकनीक से जुड़े समस्त जानकारी जान सको ।

सरोगेसी तकनीक क्या है?

सरोगेसी तकनीक क्या है?

वैसे तो कई कपल बच्चे पैदा करने की चाह रखते हैं किंतु वह किसी समस्या कारण करने में समर्थ नहीं होते हो तो वह Surrogacy का इस्तेमाल करते हैं I इसमें Surrogacy करने के लिए पुरुष का स्पर्म उस महिला के रूप में प्रत्यारोपित किया जाता है जिसकी कोकह किराए पर ली जाती है I

जिसे हम सरोगेट मदर कहते हैं I इस प्रक्रिया को ट्रेडिशनल सरोगेसी कहते हैं I

और दूसरे प्रकार की Surrogacy में बच्ची की चाह रखने वाले माता-पिता के स्पर्म और मां के अंडे का मेल टेस्ट ट्यूब में कराने के बाद उस महिला के यूट्रस से सीधे प्रत्यारोपित करवा दिया जाता है जिसे हम जेस्टेशनल Surrogacy के नाम से जानते है I यह प्रक्रिया एक कानूनी के द्वारा ही की जाती है I

इन्हें भी पड़े-

सरोगेसी से मां कैसे बनते हैं?

सरोगेसी से मां बनने के लिए कोई भी कपल जो अपने बच्चे की इच्छा रखता है तो वह किसी अन्य महिला की कोख किराए पर लेते हैं, और सिर्फ पहली प्रक्रिया में या तो उस व्यक्ति के स्पर्म को उस महिला के एग से मिलकर गाया जाता है या फिर दूसरी प्रक्रिया जेस्टेशनल Surrogacy के माध्यम से माता-पिता के स्पर्म और मां के अंडे को टेस्ट ट्यूब बेबी के मेल करवाकर सरोगेट मदर के यूट्रस में प्रत्यारोपित करवा जाता है जिसके बाद से वह मां बनती है I

आखिर Surrogacy तकनीक का उपयोग कौन करता है?

जैसे कि आप सब जान गए होंगे कि आज के समय में surrogacy और उसे अपनाने वाले कई कपल इसका उपयोग कर रहे हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं? कि इसका उपयोग क्यों किया जा रहा है तो हम आपको बता दें कि ऐसे कई कपल होते हैं जो किसी जेनेटिकली समस्या के कारण माता-पिता बनने में असमर्थ होते हैं जिसमें मां को किसी समस्या के कारण वह प्रेग्नेंट नहीं हो सकती है I

इसलिए वह अपने बच्चे की चाह को पूरा करने के लिए इस तकनीक का उपयोग कर रहे इस तकनीक का उपयोग करने वाले कपल में मुख्य रूप से किरण राव, प्रियंका चोपड़ा, करण जोहार, शिल्पा शेट्टी आदि ऐसे मुख्य बड़ी बड़ी हस्तियां शामिल है I

सरोगेसी में कितना खर्च आता है?

इसे अपनाने वाली मां की उम्र अधिकतम 18 से 35 साल के बीच होती है कोई भी कपल surrogacy करवाना चाहता है तो उस मां का पूरा खर्चा वह कपल उठाता है। किराए की कोख लेने पर भारत में यह खर्चा कुल 3 से ₹4 लाख या उससे अधिक भी हो सकता है I

वहीं दूसरे देशों में कम से कम 30 से 40 लाख रुपए तक का इसका खर्चा आता है पूरा यह कोई फिक्स अमाउंट नहीं है अमाउंट surrogacy mother करवाने वाले कपल के द्वारा निर्धारित होता है I

सरोगेसी कितने प्रकार की होती है?

Surrogacy निम्न दो प्रकार की होती है लेकिन यह दोनों तकनीक के माध्यम से कोई भी महिला मां बनती है, तो हम आपको बता दें कि यह तकनीक ट्रेडिशनल सरोगेसी और जस्टिस surrogacy है।

  • ट्रेडिशनल सरोगेसी
  • जेस्टेशनल सरोगेसी

ट्रेडिशनल सरोगेसी

ट्रेडिशनल Surrogacy का पारंपरिक सरोगेसी में किसी भी व्यक्ति को इस पर्व को उस महिला के रूप में प्रत्यारोपित किया जाता है कि कुरान की जाती है। इस प्रकार के प्रोफेसर होटल्स नियर सिरसी कहते हैं I

जेस्टेशनल सरोगेसी

इस प्रकार की गेस्टेशनल सरोगेसी (Gestational Surrogacy) तकनीक में करवाने वाले कपल में पुरुष के स्पर्म और महिला के अंडे को टेस्टिंग टीवी के माध्यम से सहयोग करने वाली मदद के को के यूट्रस में प्रत्यारोपित करवाया जाता है ।

सरोगेसी के भारत में नियम

भारत में यदि कोई भी कपल Surrogacy करवाना चाहता है तो उसके नियम कुछ इस प्रकार से है जिसमें सरोगेट मदर के स्वास्थ्य से जुड़े के मुख्य बिंदु के अंतर्गत सफल होना अनिवार्य है।

सरोगेट मदर के पास पूर्ण रूप से मेडिकली फिट प्रमाण पत्र होना चाहिए इसके बाद ही वह माँ बन्ने को योग्य होगी । ऐसे कपल जो Surrogacy करवाना चाहते हैं उनके पास इनफर्टाइल का प्रमाण पत्र होना चाहिए । Surrogacy महिला इच्छुक महिला की परमिशन अपने स्वेक्षा के अनुसार करने पर ही वह माँ बन सकती है I

भारत में अब तक सरोगेसी अपनाने वाले व्यक्ति

भारत में Surrogacy तकनीक का उपयोग करके कई बॉलीवुड अभिनेत्री मां बनी है जिसमें मुख्य रुप से शिल्पा शेट्टी, करण जौहर, आमिर खान, किरण राव, एकता कपूर, प्रियंका चोपड़ा, प्रीति जिंटा और कई बड़ी नामचीन हस्तियाँ इस तकनीक का उपयोग करके अपने माता-पिता बनने का सपना पूर्ण किया है I

सरोगेसी या टेस्ट ट्यूब बेबी (आईवीएफ (IVF) में अंतर

Surrogacy तकनीक और टेस्ट ट्यूब बेबी तकनीक दोनों अलग-अलग प्रकार से होती है तो आइए जानते हैं कि सरोगेसी और टेस्ट ट्यूब बेबी में क्या अंतर होता है जो कि इस प्रकार से है।

सरोगेसी (Surrogacy)

इस तकनीक का उपयोग ऐसे कपल करते हैं जो मां बाप बनने के योग्य नहीं होते हैं, इस तकनीक का उपयोग करके संतान की चाह रखने वाले माता-पिता किसी अन्य महिला की कोख़ को किराए पर लेते हैं और माता-पिता के स्पर्म और महिला के एग को फर्टाइल करके उस महिला की कोख में इंटर करवाया जाता है, जिससे कि किसी भी महिला मां बन जाती है इस प्रकार की तकनीक को Surrogacy कहा जाता है I

ट्यूब बेबी (आईवीएफ (IVF)

अब हम आपको टेस्ट ट्यूब बेबी जिसे आईवीएफ तकनीक भी कहते हैं इसका उपयोग दुनिया भर में सबसे ज्यादा होता है, इस तकनीक का उपयोग करने वाली मां वही होती है, जिसमे किसे व्यक्ति का स्पर्म डोनर के शुक्राणु को और मां के एग को शरीर से बाहर निकाल दिया जाता है और उन्हें लैब में ही फर्टाइल करवा जाता है जब यह देख फर्टाइल हो जाता है तो उसको उस महिला के गर्भ में डाल दिया जाता है I

यह प्रक्रिया एक लंबी प्रक्रिया होती है जो शत-प्रतिशत पूर्ण रूप से सफल तकनीक मानी जाती है I

सरोगेसी तकनीक से सम्बंधित सवाल-जवाब

  1. ट्रेडिशनल सरोगेसी किसे कहते हैं?

    इस प्रकार की सरोगेसी तकनीक में पुरुष के स्पर्म को सेरोगेसी मदर के गर्भ में प्रवेश करवाया जाता है ।

  2. Surrogacy Mother किसे कहते है?

    सेरोगेसी मदर उसने जो किसी कपल के बच्चों को अपने पेट में 9 महीने के लिए किराए पर रखी है जिसे हम किराए की कोख वाली महिला को सेरोगेसी मदर होते हैं ।

  3. सरोगेसी या गोद लेना बेहतर क्या है?

    सरोगेसी या गोद लेना दोनों बेहतर ऑप्शन है आप इसमें से उचित समझे सही फैसला होगा ।

  4. सरोगेसी की प्रक्रिया भारत में लगातार बढ़ रही है इससे भारत की प्रजनन क्षमता पर क्या प्रभाव पड़ रहा है?

    भारत में केस ज्यादा बढ़ते जा रहे हैं इससे भारत में किसी भी प्रकार से प्रजनन क्षमता पर प्रभाव नहीं पड़ेगा ।

  5. कोनसी मसूर फिल्म टीवी प्रोड्यूसर सरोगेसी तरीके से माँ बनी?

    इस मशीन तकनीक का उपयोग करके भारत में मुख्य रूप से प्रियंका चोपड़ा, शिल्पा शेट्टी जैसी अभिनेत्री इन तरीके का उपयोग करके मां बनी है ।

  6. सरोगेसी पद्धति क्या है?

    यह पद्धति किसी भी महिला को मां बनने में सहायक होती है जिसमें ऐसे कोई भी कपल जो अपनी संतान पैदा करना चाहते हैं वह किसी अन्य महिला के गर्भ में अपनी संतान को 9 महीने के लिए रख सकते हैं ।

  7. सरोगेसी तकनीक से बच्चे कैसे पैदा होते हैं?

    सरोगेसी तकनीक के माध्यम से पुरुष के स्पर्म और महिला के एक को टेस्ट ट्यूब बेबी में प्रवेश करके किसी भी सरोगेट मदर की यूट्रस में प्रवेश कराकर बच्चे को पैदा किया जाता है ।

  8. सरोगेसी या टेस्ट ट्यूब बेबी में से कौन सा बेहतर विकल्प है?

    सरोगेसी या टेस्ट ट्यूब बेबी दोनों ही बेहतर विकल्प है आपकी जरूरत के अनुसार अब इन दोनों में से किसी एक का विकल्प चयन कर सकते हो I

  9. सरोगेसी को किन-किन नामे से जाना जाता है?

    इसे हम सेरोगेसी मदर या किराए की कोख आदि नामों से जाना जाता है I

निष्कर्ष (Conclusion)

अब आपको पूरा लेख पढ़कर सरोगेसी क्या होती है इसका उपयोग क्यों किया जाता है उसे संबंधित सभी जानकारी आपको इसमें जानने को मिल गई होगी I अगर जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी है तो अपने मित्रों को अवश्य शेयर करें और और इससे से संबंधित कोई और प्रश्न है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें ।

ज्ञानवर्धक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट hindineer.com को फॉलो करें जहां हम आपको नई नई ज्ञानवर्धक जानकारी उपलब्ध करवाते रहते हैं ।

धन्यवाद!

Rate this post
Previous articleजेट इंजेक्टर तकनीक कैसे काम करती है? [2024]
Next articleवायरल मोज वीडियो स्टेटस डाउनलोड कैसे करे? (2024) | Moj Video Status Download Kaise Kare?
हेलो दोस्तों! में Mayur Arya [hindineer.com] का Author & Founder हूँ। में Computer Science (C.s) से ग्रेजुएट हूँ। मुझे latest Topic (हिन्दी मे) के बारे में जानकारी देना अच्छा लगता है। और में Blogging क्षेत्र में वर्ष 2018 से हूँ। इस ब्लॉग के माध्यम से आप सभी का ज्ञान का स्तर को बढाना यही मेरा उद्देश्य है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here